कंप्यूटर क्या है और इसके प्रकार Computer In Hindi

कंप्यूटर क्या है

What is a computer in hindi? कंप्यूटर एक प्रकार का इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस होता है. जब भी कोई यूज़र कोई भी इनपुट देता है तो कंप्यूटर उस हिसाब से प्रक्रिया करता है और उसको रिजल्ट ला कर देता है.  अर्थात कंप्यूटर एक ऐसा इलेक्ट्रॉनिक डिवाइसेज ओं यूजर द्वारा दिए गए दिशा निर्देशों का अच्छे से पालन करता है. एक यह यूजर को अच्छी प्रकार से डाटा प्रदान करता है जो कि कभी गलत नहीं होता है फिर भी गलत हो जाता है तो यह एक प्रकार की मशीन होती है जो कि कभी कबार गलतियां भी कर देती है.

अभी एक सवाल आता है कि हम hindi computer का उपयोग क्यों करते हैं? कंप्यूटर का उपयोग ईमेल भेजने के लिए, गेम खेलने के लिए, वेब ब्राउजिंग करने के लिए और बहुत सारे सॉफ्टवेयर को डाउनलोड करके उन पर काम करने के लिए हम उसका उपयोग करते हैं जो की बहुत ही जरूरी है. आज के टाइम में तो कि ज्यादातर यूजर कंप्यूटर को ही यूज करते हैं कुछ लोग लैपटॉप भी यूज़ करते हैं उनकी सहूलियत के हिसाब से काम करता है.

आज हम computer hindi पर कुछ भी इस्तेमाल कर रहे हैं वह वैज्ञानिकों के कड़ी सालों की मेहनत और परिश्रम का नतीजा है. वही आधी अधूरी जानकारी से अच्छा आपके पास पूरा का पूरा ज्ञान होना चाहिए. आज मैं आपको इस ब्लॉग के माध्यम से बताना चाहूंगा कि कंप्यूटर किसे कहते हैं? इसके विभिन्न प्रकार क्या हैं? इसकी फुल फॉर्म क्या है? कंप्यूटर काम कैसे करता है? इसके साथ-साथ आप लोग इस डिवाइस से पूरी जानकारी ले सकते हैं. बस आपको कुछ चीजों का पता होना बहुत जरूरी है. आइए जानते हैं कि कंप्यूटर क्या होता है और कैसे काम करता है:

What Is a Computer in Hindi? कंप्यूटर क्या है

कंप्यूटर एक मशीन है जो कुछ टाइम निर्देशों के अनुसार कार्य को संपादित करते हैं और ज्यादा कहे तो कंप्यूटर एक इलेक्ट्रॉनिक उपकरण है जो इनपुट उपकरण की मदद से आंकड़ों को स्वीकार करता है. उन्हें प्रोसेस करता है और उन प्राप्त हुए हुए आउटपुट उपकरणों की मदद से सूचना के रूप में हमें इंफॉर्मेशन को प्रदान करता है.

हम जो भी निर्देश देते हैं उन निर्देशों में विभिन्न प्रकार की चीजें सम्मिलित की जा सकती हैं. जैसे की संख्या आंकड़े वर्णमाला यह सारी चीज है. डाटा के अनुसार computer hindi लेता है और इसका एक प्रमाण बनाता है. यदि कंप्यूटर कुछ आंकड़े गलत देता है तो उसके जिम्मेदार हम होते हैं कंप्यूटर कभी भी कोई भी गलती नहीं करता है. मतलब साफ है कि कंप्यूटर गार्बेज इन गार्बेज आउट के नियम पर आधारित होता है

क्या आपको पता है कंप्यूटर का जनक चार्ल्स बैबेज को माना जाता है. इन्होंने आसन 1835 में एनालिटिकल इंजन का आविष्कार किया था जो एक डिजिटल कंप्यूटर का आधार बना था. इसी कारण उन्हें फादर ऑफ कंप्यूटर की उपाधि दी गई थी.

कंप्यूटर की फुल फॉर्म क्या होती है

What is computer hindi? ऐसे तो कंप्यूटर की कोई भी परिभाषा नहीं है लेकिन फिर भी हम अपने हिसाब से उसकी परिभाषा को बता सकते हैं जोकि स्टैंडर्ड फुल फॉर्म नहीं है फिर भी मैं आपको बताना चाहूंगा.

कंप्यूटर एक ऐसी मशीन है, जिसका उपयोग विभिन्न प्रकार की तार्किक गणनाओं के लिए किया जाता है जो डेटा को स्वीकार करता है, उसे संग्रहीत करता है, निर्देशों के अनुसार उसकी प्रोसेसिंग करता है और हमें आउटपुट प्रदान करता है।.

कंप्यूटर के टाइप क्या है Computer Types

computer about in hindi के बहुत सरे टाइप होते है. कंप्यूटर मुख्य रूप से तीन प्रकार के होते हैं. इनके बारे में हम आपको आने वाले आर्टिकल में बताएंगे.

पहला होता है अनुप्रयोग, दूसरा उद्देश्य, तीसरा आकार इन तीन प्रकार से कंप्यूटर को डिवाइड किया गया है.

1.      डिजिटल कंप्यूटर क्या है

 आम तौर पर अपने घरों कार्यालयों और ऑफिसों में यूज करते हैं. जिसमें डिटेल तरीके से डाटा को हम स्टोर करते हैं. और जो आउटपुट प्राप्त होता है अधिकतर 0-1, उसे हम बायनरी फॉर्म भी कहते हैं इसमें प्राप्त होता है.  कंप्यूटर हमारी भाषा को नहीं समझता है तो वह 0-1 यानी बायनरी भाषा को ही समझता है हम कोई भी इनपुट कंप्यूटर को देते हैं तो वह इसे 0-1 में कन्वर्ट करता है अपने अनुसार आउटपुट देता है

2.      हाइब्रिड कंप्यूटर क्या है

हाइब्रिड कंप्यूटर में एनालॉग कंप्यूटर और डिजिटल कंप्यूटर दोनों प्रकार के ही गुण सम्मिलित किए जाते हैं. यह एनालॉग और डिजिटल से कई ज्यादा भरोसेमंद और अच्छे माने जाते हैं इनका काम एनालॉग से प्राप्त डाटा को डिटेल फॉर्म में कन्वर्ट करना होता है. जो कि चिकित्सा विज्ञान मौसम विज्ञान आदि की जानकारी अच्छी तरीके से यूज़र तक पहुंचा देता है.

Computer Kya He (कंप्यूटर का परिचय क्या है)

कंप्यूटर एक बहुत ही उपयोगी उपकरण है. लेकिन कंप्यूटर अपना काम अकेले नहीं कर सकता है. कंप्यूटर को काम करवाने के लिए हमें उपकरण और प्रोग्राम की सहायता लेनी पड़ती है.

 कंप्यूटर के विभिन्न उपकरण

1.      सिस्टम यूनिट

Computer kya he? इसके प्रकार क्या है? सिस्टम यूनिट एक प्रकार का बक्सा होता है जिसमें कंप्यूटर अपने कार्य को आवश्यक तरीके से करता है जिसमें बहुत सारे यंत्र लगे रहते हैं सिस्टम यूनिट को सेंट्रल प्रोसेसिंग यूनिट भी कहा जाता है इसमें मदरबोर्ड प्रोसेसर हार्डडिस्क और भी कई तरह के यंत्र लगे होते हैं.

2.      मॉनिटर

मॉनिटर एक तरह की टीवी स्क्रीन होती है जो कि निर्देशों के परिवारों को दिखाता है यह टीवी के जैसा दिखता जरूर है लेकिन टीवी नहीं होता है यह बहुत ही जरूरी चीज होती है कंप्यूटर के कार्य को  दिखाने की.

3.      कीबोर्ड

कीबोर्ड इनपुट डिवाइस होता है. कंप्यूटर में जब भी हम कोई निर्देश देते हैं तो यह कीबोर्ड की मदद से ही उसको पता चलता है. यह कंप्यूटर को वांछित आंकड़े और निर्देश को दिखाता है इसमें विभिन्न प्रकार की कुंजियां होती हैं.  कीबोर्ड के माध्यम से ही हम हम कंप्यूटर को आंकड़े और निर्देश देते हैं.

4.      माउस

माउस से इनपुट डिवाइस होता है जो कंप्यूटर को निर्देश देने के लिए उपयोग किया जाता है हम उसका यूज़ करके एक प्रोग्राम को चुनते हैं और यह प्रोग्राम कंप्यूटर को बताता है कि क्या चीज हमें दिखानी है और क्या चीज नहीं दिखानी हैं.

5.      स्पीकर

यह एक आउटपुट उपकरण है जो कंप्यूटर से आवाज को लोगों तक पहुंचाने के लिए मदद करता है. इन्हीं के द्वारा हम संगीत फिल्मों प्रोग्रामों खेलो आदि को सुन सकते हैं यह बहुत ही उपयोगी होता है.

6.      प्रिंटर

Computer in hindi जैसा की आपको नाम से पता चल रहा होगा, प्रिंटर एक ऐसी डिवाइस होती है जो कि किसी भी चित्र को छापने का कार्य करती है. यह एक प्रकार की आउटपुट डिवाइस होती है इसमें हम कुछ सूचनाओं को कंप्यूटर के जरिए कागज पर प्राप्त करते हैं. जिसे हम हार्ड कॉपी भी कहते हैं और इसके उलट कंप्यूटर में अगर यह सूचना से की जाती है तो हम उसको सॉफ्ट कॉपी कहते हैं. प्रिंटर कलर और ब्लैक एंड वाइट दोनों में हो सकता है

कंप्यूटर की विशेषताएं

कंप्यूटर में हमारे जीवन को बहुत ही सहज बना दिया है तो इसमें कोई दो राय नहीं होगी कंप्यूटर में हम इंसान कुछ भी सेव कर सकते हैं कुछ भी हो सकते हैं.  अगर हम बात करें कंप्यूटर की विशेषताओं की तो यह बहुत ही ज्यादा वर्सेटाइल मशीन होती है फ्लेक्सीपल होती है इसके एडवांटेज और डिसएडवांटेज भी होते हैं जो कि हम आने वाले सेक्शन में आपको बताएंगे.

1.      गति

What is computer hindi? कंप्यूटर बहुत ही स्पीड से काम करता है यह लाखों-करोड़ों इनपुट को केवल 1 सेकंड में संपादित कर देता है इसकी डाटा संशोधित करने की गति को हम माइक्रो सेकंड में नापते हैं या नैनो सेकंड में नापते हैं और पिको सेकंड में भी हम इसे नाप सकते है.

अगर हम गति की बात करें तो इसके प्रोसेसर की एक यूनिट की गति 1000000  निर्देश प्रति सेकंड होती है इस मशीन को तीव्र गति से कार्य करने के लिए बनाया गया है तो इसकी गति के बारे में आप लोगों ने जान लिया है आगे जानते हैं.

2.      इसकी शुद्धता

कंप्यूटर गार्बेज इन गार्बेज आउट के सिद्धांत पर काम करता है तो यह बहुत ही ज्यादा एक्यूरेट डाटा को हमारे पास पहुंचा देता है कुछ ही सेकंड में इसके द्वारा उत्पादित परिमाण  त्रुटि ही होते हैं अगर हम कोई भी  परिमा देते हैं तो यह बिना कोई गलती की है उसको सही सलामत हमारे पास पहुंचा देता है और यह अच्छी तरह से उसकी कैलकुलेशन कर लेता है इसके परिणामों की शुद्धता मानव परमाणु की अपेक्षा बहुत ज्यादा होती है यह बहुत ही ज्यादा   सही होता है

3.      बहु प्रतिभा या वर्सेटिलिटी

कंप्यूटर एक वर्सेटाइल मशीन होती है या गाना को करने के अलावा अनेक कामों में उपयोग की जाती है इसके द्वारा हम टाइपिंग कर सकते हैं दस्तावेज रिपोर्ट ग्राफिक्स वीडियो ईमेल भी सकते हैं और भी काफी सारे काम हम इसमें सफलतापूर्वक कर सकते हैं

4.      स्वचालित या ऑटोमेशन

यह अपने आप काम करती हैं यह बहुत सारे कामों को किसी भी  हस्तक्षेप के पूरा कर देता है स्वचालित होने की वजह से यह बहुत ही ज्यादा एक्यूरेट तरीके से अपनी चीजों को  यूजर्स के सामने रख देता है.

5.      संप्रेषण या कम्युनिकेशन

कंप्यूटर के द्वारा हम अन्य इलेक्ट्रॉनिक वर्षों से भी बातचीत कर सकते हैं. यह एक नेटवर्क के जरिए कनेक्ट हो जाता है और सूचनाओं का आदान-प्रदान अच्छे से कर लेता है.

इसको करने के लिए हम विभिन्न प्रकार की नेटवर्क सुविधाओं का सहारा लेते हैं जिसकी सहायता से हम एक डिवाइस को दूसरे डिवाइस से  अच्छी तरह  जोड़ सकते हैं

6.      भंडारण क्षमता या स्टोरेज कैपेसिटी

इसके अंदर हम लोग कॉस्ट सॉल्यूशन यूज करते हैं इसलिए यह बहुत ही कम मात्रा में अधिक डाटा को सेव कर सकता है सेंट्रलाइज्ड डेटाबेस का इस्तेमाल हम इसके अंदर बहुत ही ज्यादा क्वांटिटी की सूचनाओं को सेव करने के लिए करते हैं जिससे कि इसकी जो पोस्ट है बहुत कम हो जाती है.

What is a computer in hindi? तो कंप्यूटर के अंदर एक बहुत बड़ी मेमोरी होती है कंप्यूटर मेमोरी में परिमाण निर्देश डाटा सूचनाएं और बहुत तरह की चीजों को विभिन्न प्रकार से संचारित करता है भंडारी समता के कारण कंप्यूटर दोहराव से बचा जा सकता है क्योंकि इसमें रिपीटेशन का कोई परेशानी नहीं आती है.

7.      प्रकृति को समझने वाला या  नेचर फ्रेंडली

कंप्यूटर अपने किसी भी काम को करने के लिए किसी भी प्रकार का कागज इस्तेमाल नहीं करता है जिससे कागज की जो खपत है वह बिल्कुल भी इसमें नहीं लगती है डाटा के स्टोरेज करने के लिए कागजी दस्तावेज जरूरी नहीं होते हैं इसलिए अगर हम कहें तो अप्रत्यक्ष रूप से यह प्रकृति की सुरक्षा भी करते हैं और इसमें लागत और समय दोनों ही बहुत कम लगते हैं

Limitation Of Computer कंप्यूटर की कुछ सीमाएं

What is computer hindi? यह एक प्रकार की मशीन होती है जो अपना काम स्वयं नहीं कर सकती है इसके लिए ऐसे इंसानों पर निर्भर रहना ही पड़ता है जब तक हम इसके अंदर कोई भी इनपुट नहीं देते हैं तो कोई भी परिवार प्रदान नहीं हो सकता है

इसमें कोई भी विवेक जैसा नेचर नहीं होता है यह एक बुद्धिमान मशीन जरूर है लेकिन इसमें सोचने और समझने की क्षमता बिल्कुल भी नहीं होती है वर्तमान के समय में हम आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के द्वारा कंप्यूटर को सोचने और समझने और तर्क करने के लिए उपयोग कर सकते हैं.

 कंप्यूटर का इतिहास History Of Computer In Hindi

What is the computer in hindi? और इसका इतिहास क्या है ?आइए अब हम आपको कंप्यूटर के इतिहास के बारे में कुछ बातें बता देते हैं ईशा पूर्व हो चुकी थी जब चीनियों ने अबेकस नाम का एक यंत्र बनाया था इसके बाद विभिन्न प्रकार की स्वचालित मशीनों अस्तित्व में आने लगी और चार्ल्स बैबेज ने स्वचालित इंजन आज के कंप्यूटर को डेवलप किया था कंप्यूटर का इतिहास इसी तरह के उतार-चढ़ाव से बना हुआ है जो कि नीचे बताया गया है

  • क्या आपको पता है अभी काश दुनिया का पहला गणना यंत्र था जिसके द्वारा हम जोड़ना घटाना कर सकते थे अबेकस का जो निर्माण हुआ था वह लगभग ढाई सौ वर्ष पूर्व चीनियों के द्वारा बनाया गया था यह यंत्र सत्र वीं शताब्दी तक गणना करने का एकमात्र उपकरण था
  • इसके बाद जॉन नेपियर ने अपनी किताब में अपने गणितीय उपकरण का जिक्र किया था जिसको वह नेपियर बोंस कहते थे इस डिवाइस का उपयोग उत्पादों की गणना और हम भाग देने के लिए करते थे.
  • नेपियर के अविष्कार के कुछ सालों के बाद विलियम ने साइट रूल का आविष्कार किया था जो कि गुणा भाग वर्गमूल त्रिकोणमितीय जैसी गणना है आसानी से कर सकता था मगर जोड़ना और घटाना इसके लिए आसान नहीं था
  • इसके बाद इसके बाद 18 वर्षीय 19 वर्ष की अल्प आयु में फ्रेंच के एक वैज्ञानिक ने व्यवहारिक यंत्र बनाया जो कि केलकुलेटर के नाम से जाना गया.
  • इसके कुछ समय के बाद एक नई चीज सामने है जिसे हम बायनरी सिस्टम कहते थे इसके विकसित होने के बाद एक अंग्रेज जॉर्ज बैले ने इसका आधार बनाकर 1845 में एक नई गणित ईसाका बुलियन अलजेब्रा का आविष्कार किया.
  • आज हम अपने कंप्यूटर में जो भी चीजें करते हैं वह बायनरी सिस्टम और बुलियन अलजेब्रा पर ही निर्भर होते हैं इसके बाद फ्रेंड के एक बुनकर जोसेफ मैरी ने एक हथकरघा बनाया जिसका नाम जैक्वार्ड लूम था
  • इसे हम पहला सूचना संसाधित डिवाइस भी कहते हैं इस डिवाइस के अविष्कार नए लोगों को बता दिया कि मशीन को मशीन के कोर्ट के द्वारा संचालित किया जा सकता है
  • 1820 में फ्रांस के एक वैज्ञानिक थॉमस डी अर्थो मीटर बनाया. जोकि जोड़ना घटाना गुणा भाग आसानी से कर सकता था लेकिन द्वितीय विश्व युद्ध चलने के कारण इस मशीन का आविष्कार रोक दिया गया उसके बाद आधुनिक कंप्यूटर के पितामह कहे जाने वाले चार्ल्स बैबेज ने 1822 में स्वचालित केलकुलेटर बनाया इसका नाम उन्होंने डिफरेंस इंजन रखा.
  • यह डिवाइस भाप के द्वारा चलती थी और इसका आकार बहुत बड़ा था इसमें प्रोग्राम को स्टोर करने गणना करने और हल करने की क्षमता थी इस इंजन के लगभग एक दशक के बाद 1835 में एनालिटिकल इंजन का आविष्कार किया गया इस इंजन को आधुनिक कंप्यूटर का शुरुआती चरण माना जाता है
  • इसलिए ही चार्ल्स बैबेज को कंप्यूटर का जनक भी कहा जाता है इस मशीन में वह सारी खूबियां थी जो एक मॉडर्न कंप्यूटर में होती है इसके अंदर सीपीयू मेमोरी प्रिंटर रीडर इनपुट आउटपुट काफी सारे डिवाइस लगे हुए थे अब एक आधुनिक कंप्यूटर का जो चरण था वह स्टार्ट हो चुका था जो कंप्यूटर हम यूज कर रहे हैं वह कंप्यूटर बनना शुरू हो चुका था.

अब हम कह सकते हैं कि बड़े-बड़े कमरों में से निकल कर एक बड़ा सा डिवाइस हमारे छोटे छोटे हाथों में आ गया है जिसे हम कंप्यूटर कहते हैं

  कंप्यूटर की पीढ़ी Generation Of Computer In Hindi

कंप्यूटर को हम पीढ़ियों के अनुसार पांच भागों में बांटते हैं

1.      प्रथम पीढ़ी

यह पीढ़ी 1940 से 1965 के बीच तक रही इसमें हम वेक्यूम ट्यूब पर निर्भर थे  इनपुट और आउटपुट देने के लिए  पंच कार्ड पेपर टाइप फॉर मैग्नेटिक टेप का इस्तेमाल करते थे यह मशीन भाषा का प्रयोग करता था जिसे हम मैग्नेटिक ड्रम्स भी कहते हैं इसमें विभिन्न प्रकार का डाटा संरक्षित रहता था जो कि बहुत ही ज्यादा महंगा और बजनी होता था.

इसमें जो गुप्त भाषा प्रयोग की जाती थी उसको हम यूनीवैक ईडीवीएसी इएनआईएसी भी कहते हैं

2.      द्वितीय पीढ़ी

यह पीढ़ी 1965 से 1965 तक चली यह ट्रांजिस्टर पर आधारित मेमोरी के लिए मैग्नेटिक को और मैग्नेटिक टेप का इस्तेमाल करता था यह छोटे और फास्टर थे और सस्ते भी थे जो कि एनर्जी को कम उपयोग करते थे यह पहले जनरेशन की तुलना में हिट जनरेट करते थे लेकिन फिर भी कोई समस्या नहीं आती थी इसमें हाई लेवल प्रोग्रामिंग लैंग्वेज ऐसे को बोल और फोर्ट ट्रेन को इस्तेमाल किया गया. computer kya he ये तो आपने अचे से जान लिया है.

3.      प्रत्येक पीढ़ी

अगर हम तृतीय पीढ़ी की बात करें तो यह पीढ़ी 1964 से 1971 तक रही.  इस पीढ़ी के आने से काफी ज्यादा विकास हुआ जिससे इंसानों की काम करने की क्षमता और ज्यादा बेहतर होने लगी थी.  इस पीढ़ी में ट्रांजिस्टर की जगह इंटीग्रेटेड सर्किट की व्यवस्था की गई जो काफी ज्यादा स्पीड से काम करता था.

इस पीढ़ी के आ जाने के बाद कंप्यूटर का शायद काफी ज्यादा छोटा हो गया था और कंप्यूटर की स्पीड में काफी ज्यादा इजाफा हुआ.  इसके द्वारा दिए गए रिजल्ट काफी ज्यादा विश्वसनीय हो गए थे और इनको रखना काफी ज्यादा आसान था.   इस पीढ़ी में फोटो नाम की भाषा का इस्तेमाल किया गया.

4.      चतुर्थ  पीढ़ी

तृतीय पीढ़ी के आने के बाद 1971 से 1985 तक चौथी पीढ़ी स्टार्ट हो चुकी थी इस पीढ़ी में इंटीग्रेटेड सर्किट की ज्यादा वीएलएसआई का इस्तेमाल किया गया जिसको हम माइक्रोप्रोसेसर भी कहते हैं.

वीएलएसआई आज आने के बाद सेंट्रल प्रोसेसिंग यूनिट में बदलाव किए गए और इनको एक ही जगह लगाना संभव हो पाया इस पीढ़ी में ग्राफिकल यूजर इंटरफेस का इस्तेमाल किया जाता था जो कि काफी ज्यादा महत्वपूर्ण माना जाता है कंप्यूटर के योगदान में जिससे कार्य करने की क्षमता बहुत ज्यादा बढ़ने लगी और संभावना भी काफी ज्यादा निखरने लगी लोगों के प्रति और जितने भी लॉजिकल काम थे वह आसानी से होने लगे.

आपको बताना चाहते हैं कि पहला पर्सनल कंप्यूटर आईबीएम ने बनाया था और पहली बार माउस का इस्तेमाल किया जाने लगा अपनी सूचनाओं को कंप्यूटर में देने के लिए.

इस पीढ़ी में सी और सी प्लस प्लस जैसी भाषा का इस्तेमाल किया जाने लगा जिनकी वजह से काम काफी ज्यादा सुचारू रूप से चलने लगा और लोगों को भी ज्यादा तकलीफ और दिक्कत का सामना नहीं करना पड़ा.

5.      What is computer hindi -पांचवी पीढ़ी

यह पीढ़ी 1985 से आज तक है इस पीढ़ी में वह सारे कंप्यूटर सम्मिलित किए जाते हैं जो आज के टाइम पर बनाए जाते हैं और जो कंप्यूटर आने वाले टाइम में भी बनेंगे उनको भी इस पीढ़ी में रखा जाएगा.

इस पीढ़ी के आ जाने के बाद कंप्यूटर के क्षेत्र में एक क्रांति आई और लोगों का कार्य और ज्यादा तेजी से होने लगा इस पीढ़ी में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस का इस्तेमाल किया गया जिसके द्वारा कंप्यूटर को एक दिमाग देने की कोशिश भी की गई जो काफी हद तक सफल हो रही है.

स्पीड मैं भी एलएसआई चिप की जगह यू एल एस आई जब का इस्तेमाल किया गया.  जिसके कारण  आकार और तार करने की क्षमता काफी ज्यादा  बढ़ गई.

ऐसी पीढ़ी में सुपर कंप्यूटर को बनाया गया जो कि किए गए काम को बहुत ही ज्यादा स्पीड से कर देता है जिसमें गलतियां करने की संभावना भी काफी हद तक कम होने लगी.

सारांश

दोस्तों इस ब्लॉग में आपने काफी कुछ पड़ा जिसके अंतर्गत what is a computer in hindi .यह कैसे काम करता है इसके प्रकार क्या है इसकी पीढ़ियोक्या है इसकी नई नई नीतियां क्या है यह सब आपने जाना हम आशा करते हैं कि आपको यह ब्लॉग काफी ज्यादा पसंद आया होगा अगर आपको यह पसंद आया है तो आप हमें कमेंट करके बता सकते हैं.

What is basic computer in Hindi?

आम तौर पर तकनीकी और शैक्षणिक अनुसंधान के लिए उपयोग में आने वाली मशीन 

What is personal computer in Hindi?

पर्सनल कम्प्यूटर व्यक्तिगत उपयोग के लिए छोटा, अपेक्षाकृत कम खर्चीला डिजाइन किया उपकरण है.

What is a computer in Hindi?

Computer एक ऐसा Electronic Device है जो User द्वारा Input किये गए Data में प्रक्रिया करके सूचनाओ को Result के रूप में प्रदान करता हैं, अर्थात् Computer एक Electronic Machine है जो User द्वारा दिए गए निर्देशों का पालन करती हैं| इसमें डेटा को स्टोर, पुनर्प्राप्त और प्रोसेस करने की क्षमता होती है।

Summary
कंप्यूटर क्या है और इसके प्रकार Computer In Hindi
Article Name
कंप्यूटर क्या है और इसके प्रकार Computer In Hindi
Description
Computer एक Electronic Machine है जो User द्वारा दिए गए निर्देशों का पालन करती हैं|
Author
Publisher Name
teqguru
Publisher Logo

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *